“यमुना को निर्मल रहने दो, यमुना को अविरल बहने दो” मां यमुना के जयकारे लगाए गए

मथुरा/ मदन सारस्वत। यमुना कलश पदयात्रा प्रोजेक्ट आत्मनिर्भर के संस्थापक रणजीत महेश पाठक के नेतृत्व में शंकराचार्य आश्रम पक्का घाट से डुन्डू खेडा होती हुई भैय्या जी आश्रम पहुँची , जगदगुरू स्वरूपानंद आश्रम के प्रभारी ब्रह्मचारी दिव्यानंद महाराज अपने शिष्यों व साधूओ के साथ पदयात्रा करते हूए यात्रा के अगले पड़ाव भैय्या जी आश्रम पहुँचे।रास्ते में जगह -जगह ग्रामीणो द्वारा स्वागत किया गया ,आश्रम पहुँचने पर ,महेश आर्य ,गोपाल भट्ट तथा एम एम शर्मा के नेतृत्व ग्रामीणो द्वारा भव्य स्वागत किया गया । जहाँ यमुना आरती के पश्चात यमुना प्रदूषण के प्रति लोगों को जागरुक करने का प्रयास किया गया।
22 किलोमीटर पैदल सफ़र के दौरान यात्रा के मध्य में जगह जगह ग्रामवासियों ने यमुना कलश पर पुष्प वर्षा व माल्यार्पण किया , “यमुना को निर्मल रहने दो,यमुना को अविरल बहने दो” मां यमुना के जयकारे लगाए गए।
पैदल यात्रीयो में पंडित रत्नेश , सचिन चतुर्वेदी , आयुष नारायण सुरेन्द्र चतुर्वेदी, मोहिताचार्य, संजय चतुर्वेदी, प्रवेश उनियाल, वसीम खान, माखन , मनसुख,राजेंद्र, धरमदास ,लव चतुर्वेदी , वेद प्रकाश उनियाल, सुनील उनियाल, सौरभ उनियाल ममलेश उनियाल आदि रहे |

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,796FansLike
2,736FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles