पालघर हत्याकांड की पहली बरसी आज, महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ संतों में रोष

वाराणसी। पिछले साल महाराष्ट्र के पालघर जिले में हुई साधुओं की निर्मम हत्या मामले को लेकर संत समाज में काफी रोष है। स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने कहा कि पालघर में हुए साधुओं की निर्मम हत्या पर महाराष्ट्र सरकार से न्याय मांगना बेमानी है। संतों के श्रीचरणों में श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि न भूलेंगे न माफ करेंगे पालघर के कातिलों का इंसाफ होना चाहिए हम प्रभु से यहा प्रार्थना करेंगे।

बता दें कि महाराष्ट्र के पालघर में 16 अप्रैल 2020 को दो साधुओं समेत कुल 3 लोगों की निर्मम हत्या हुई थी। पालघर के गड़चिंचले गांव में 16 अप्रैल की रात को हुई वारदात के वीडियो ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। घटना के एक वीडियो में 65 वर्षीय महंत भीड़ से अपनी जान बचाने के लिए पुलिस का हाथ थामे चल रहे थे लेकिन पुलिसकर्मी ने इनका हाथ छुड़वाकर कथित रूप से उन्हें भीड़ को सौंप दिया।

इसके बाद इस भीड़ ने जूना अखाड़े के दो साधुओं महंत सुशील गिरी महाराज (35 वर्ष), महंत महाराज कल्पवृक्ष गिरी (65 वर्ष) और ड्राइवर निलेश तेलगडे (30 वर्ष) की पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस मामले में सीआईडी ने दहाणु कोर्ट में दो अलग-अलग चार्जशीट दाखिल की है। सीआईडी ने 126 लोगों के खिलाफ पहली चार्जशीट 4995 पन्नों की जबकि 5921 पन्नों की दूसरी चार्जशीट अदालत में दाखिल की। मामले में अब तक 165 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,961FansLike
2,768FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles