जानिए अपना आज का राशिफल, मुहूर्त, व्रत और त्योहार आचार्य डॉ धीरेन्द्र पांडेय से….

दैनिक राशिफल दिनाँक 20 मार्च 2021 दिन शनिवार

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)
नए कार्यों की शुरुआत कर सकते हैं। मानसिक तनाव रहेगा। दोस्तों से लाभ मिल सकता है। आज आपको आर्थिक लाभ मिल सकता है। किसी यात्रा पर जा सकते हैं। आज आप वाद-विवाद से दूर रहें। अपनी वाणी पर संयम रखें।

वृष (ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)
पति-पत्नी के बीच तालमेल बना रहेगा। आर्थिक लाभ हो सकता है। आज किसी से वाद- विवाद हो सकता है। भाई को स्वास्थ्य संबंधी विकार हो सकते हैं। मित्रों के पीछे धन खर्च हो सकता है। आज आपकी वाणी में कटुता रहेगी। अपने गुस्से पर काबू रखें।

मिथुन (का, की, कू, घ, ड., छ, के को, हा)
परिवार में भी मतभेद रहेगा। चिंता से घिरे रहेंगे और शारीरिक स्वास्थ्य भी अच्छा नहीं रहेगा। किसी रुके हुए धन की प्राप्‍ति हो सकती है। नपरिवार का वातावरण भी परिवर्तित होगा। कार्यक्षेत्र में परिश्रम की अधिकता रहेगी। आर्थिक लाभ होने की संभावनाएं हैं।

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)
किसी धार्मिक स्‍थान की यात्रा पर जाना हो सकता है। मित्रों से मुलाकात हो सकती है। मानसिक तथा शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, लेकिन दोपहर के बाद आपके मन में विविध प्रकार की चिंताएं उठेगी। आत्‍मविश्वास में कमी आएगी।

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)
छोटे प्रवास पर जा सकते हैं। विदेश से अच्छी खबर मिल सकती है। स्त्रीवर्ग से लाभ होने की भी संभावना है। आय में वृद्धि होगी। संतानों की ओर से भी लाभ मिलेगा। परिवारजनों तथा मित्रों के साथ आनंदपूर्वक पलों को मनाएंगे। व्यवसाय और व्यापार करने वालों के लिए आज का दिन लाभदायी है।

कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)
ऑफिस में मान-सम्मान मिलेगा। व्यवसाय में बढ़ोतरी की संभावनाएं हैं। गृहस्थ जीवन में मधुरता छाई रहेगी। विदेश जाने के इच्छुक लोगों के लिए अवसर उपस्थित होने की संभावना है। ऑफिस या व्यावसायिक स्थल पर कार्य भार अधिक रहेगा।

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
विदेश से अच्छी खबर मिल सकती है। कारोबार में आर्थिक लाभ होगा। आज आप नए काम शुरू कर सकते हैं। रहन-सहन में असहज महसूस करेंगे। खुद पर संयम रखें। परिवार की समस्‍याएं परेशान कर सकती हैं। वस्‍त्रों के प्रति रुझान बढ़ेगा।

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)
संतान को कष्‍ट हो सकता है। दांपत्य जीवन के सुख अनुभव कर सकेंगे। घर के किसी बुजुर्ग से धन प्राप्‍ति के योग बन रहे हैं। घूमने जा सकते हैं। योग और ध्यान से मानसिक शांति प्राप्त कर सकेंगे। वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं।

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फ, ढ़, भे)
कारोबारी व्यापार में वृद्धि कर सकेंगे। ऑफिस में सहयोग मिलेगा। शरीर और मन से अस्वस्थ रहते हुए भी आप अपने काम पूरे करेंगे। परिवारजनों और मित्रों से लाभ प्राप्त होगा। सामाजिक रुप से सफलता मिलेगी। आज आपका दांपत्य जीवन आनंददायी रहेगा।

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी)
मन में अशांति रहेगी। वाणी में मधुरता रहेगी, जिससे नए संबंध बनेंगे। सेहत में सुधार होगा। अधूरे कार्य पूरे होंगे। खर्चों की अधिकता से परेशान रहेंगे। आत्‍मविश्वास में कमी आएगी। ऑफिस में काम की अधिकता रहेगी।

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)
धन लाभ होने के योग हैं। सेहत का ध्यान रखें। मित्रों से भेंट हो सकती है। मन प्रसन्न रहेगा। अधिक परिश्रम करने पर कम लाभ प्राप्त होगा। मानसिक शांति रहेगी। कार्यक्षेत्र में नई जिम्मेदारी मिल सकती है। आज आपको आर्थिक लाभ मिलेगा।

मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)
पिता से लाभ मिल सकता है। चिंतामुक्त दिन बीतेगा। गुस्से पर काबू रखें। यात्रा पर जाने के योग हैं। गृहस्थ जीवन में मधुरता छाई रहेगी। ऑफिस या व्यावसायिक स्थल पर कार्य भार अधिक रहेगा। आज धन अधिक खर्च होगा। संतान सुख में वृद्धि होगी।

दैनिक पंचांग दिनांक 20 मार्च 2021 दिन शनिवार

*दिनांक*: 20.03. 2021 ।

*दिन* :  शनिवार।

*विक्रम संवत* :2077।

*शक संवत* :1942।

*अयन*: उत्तरायन ।

*ऋतु* :  वसंत ऋतु ।

*मास*: फाल्गुन मास।

*पक्ष*: शुक्ल पक्ष।

*दिनमान*: 29 घटी 55 पल।

*रात्रि मान*: 30 घटी 05 पल।

*तिथि*:  सप्तमी 52 घटी 38 पल रात्रि मे 03:04 तक  परं अष्टमी ।

*नक्षत्र*:  रोहिणी 18 घटी 29 पल दिन 01:23 तक परं मृगशिरा।

*योग*:  प्रीति योग 08 पल 00 घटी दिन में 09:13 तक परं आयुष्मान योग।।

*करण* :  गर परं बब।

*सूर्योदय*: 06:01।

*सूर्यास्त*: 05:59।

*राहु काल* : सुबह में  09:30 बजे से 11:00 बजे तक । यात्रा एवं शुभ कार्य इस समय के दौरान न करें।

*प्रस्थान निषेध* :  पूर्व दिशा की यात्रा न करें। यदि विशेष आवश्यक हो तो घर से निकलते समय थोड़ा दही खाकर तभी पूर्व दिशा की यात्रा करें।

*विशेष* :   भद्रा रात्रि 03:04 के बाद।
अर्ककुट सप्तमी। कामदा सप्तमी। कल्याण सप्तमी।
सर्वार्थअमृतसिद्ध योग दिन में 01:23 तक।
त्रिपुष्कर योग।

*मुहूर्ता:*:  दिन 01:23 तक रोहिणी नक्षत्र में नीलम आदि रत्न धारण, कृष्ण वस्त्र धारण, इष्टिका निर्माण एवं दक्षिण दिशा की यात्रा आदि का शुभ मुहूर्त ।

*आगामी व्रत- त्योहार*:
21 मार्च रविवार से होलाष्टक दोष प्रारम्भ।
23 मार्च मंगलवार को ब्रज की लठ्ठमार होली।
24 मार्च बुधवार को गृहस्थों के लिए आमलकी एकादशी व्रत।
25 मार्च गुरुवार को वैष्णव जनों का एकादशी व्रत के साथ रंगभरी एकादशी।
26 मार्च शुक्रवार को प्रदोष व्रत।
28 मार्च रविवार को पूर्णिमा के साथ रात्रि 12:40 से पूर्व ही होलिकादहन।
29 मार्च सोमवार को होली।

द्वारा: आचार्य पं0 धीरेन्द्र कुमार पाण्डेय, ज्योतिर्विद व प्राध्यापक-  हरिश्चंद्र स्नातकोत्तर महाविद्यालय, वाराणसी।
निदेशक- काशिका ज्योतिष अनुसंधान केंद्र।
नोट: ज्योतिषीय मार्गदर्शन व सुझाव प्राप्ति हेतु आपके प्रश्न मो0 9450209581/ 8840966024 पर आमंत्रित हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,929FansLike
2,754FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles