होली मिलन पर किसानों, गोवंश और खेती की चिन्ता करना सराहनीय – आचार्य राम महेश मिश्र

  • भारतीय कृषक दल का होली मिलन समारोह सम्पन्न
  • विधायक निवास दारुलशफ़ा लखनऊ में जुटे विशेषज्ञ

लखनऊ। किदवंती है कि होली के त्योहार में सभी बुराइयों का नाश हो जाता है और सभी लोग गले मिलकर आगे बढ़ने का काम करते हैं। सरकार भी इससे प्रेरणा लेकर किसानों, गरीबों, शोषितों, पीड़ितों, संविदाकर्मियों , मजदूरों बेरोजगार भाई-बहिनों को गले लगाकर अपनी नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार करे और उनकी पीड़ा का समाधान करे, यह समय की सबसे बड़ी आवश्यकता है।

होली मिलन समारोह में भारतीय कृषक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सरोज कुमार दीक्षित ने कहा कि आज आलू किसान सड़क पर है। उसकी उपज का उचित मूल्य तो नहीं मिल रहा, बल्कि उसकी गाढ़ी कमाई भी जा रही है। पूर्व कृषि निदेशक विनय प्रकाश श्रीवास्तव ने कहा कि सरकार किसानों के साथ किए अपने वादे को पूरा करे। साल 2022 में किसान की आय दुगुनी करने का वादा 2023 में तो राज्य सरकार पूरा करे। न कर सके तो भारतीय कृषक दल से सुझाव ले, हमारे पास प्रचुर मात्रा में सभी प्रकार के विशेषज्ञों की सेवा निशुल्क उपलब्ध है।

पूर्व मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एस.के.तिवारी ने कहा कि सभी विभागों में विशेषज्ञ को ही प्रमुख बनाया जाय, ताकि वह अच्छी नीतियां बनाने में योगदान कर सके। बीकेडी के राष्ट्रीय सचिव बी.एन.पाण्डेय ने कहा कि किसान हित में सरकार को आगे आकर पहल करनी चाहिए।

स्वनामधन्य आध्यात्मिक व सामाजिक संस्था भाग्योदय फाउंडेशन के अध्यक्ष व संस्थापक आचार्य राम महेश मिश्र ने इस अवसर पर महापर्व होली का संदेश दिया। उन्होंने प्रदेश व देश में अर्थभेद, जातिभेद और लिंगभेद को दूर करने के लिए कमर कसकर खड़े होने का आह्वान किया। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि भारतीय कृषक दल द्वारा होली मिलन समारोह को भी चिन्तन सभा तथा किसानों व गोवंश तथा खेती की समस्याओं पर विचार विमर्श करने एवं उनके निदान करने की सभा के रूप में परिणत कर दिया गया है। उन्होंने भारतीय कृषक दल के उज्ज्वल भविष्य के लिए अपनी शुभकामनाएं दीं।

पूर्व अपर निदेशक कृषि डॉ.आर.के.यादव ने कहा भारतीय कृषक दल का सतत जनहित प्रयास बहुत सराहनीय है। देश की खुशहाली के लिए किसानों को उपज का उचित मूल्य मिलने के साथ फसलों की सुरक्षा के लिए छुट्टा जानवरों को नियंत्रित करना होगा।

बैठक का संचालन कर रहे राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रमोद कुमार यादव ‘जनसेवक’ ने कहा कि भारतीय कृषक दल होली मिलन के अवसर पर सरकार से किसानों की ज्वलंत समस्या छुट्टा जानवरों के निराकरण के साथ फसलों की MPP (मिनिमम परचेज प्राइज) पर कानून बनाना चाहिए। उन्होंने राज्य सरकार से मांग की कि 50 फीसदी गायों को किसान अपने खूंटे पर पाले और शेष 50 फीसदी गायों को सरकार विधिवत व्यवस्था दे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की अपेक्षा पर भारतीय कृषक दल इसके लिए पूरी योजना बनाकर देने को तत्पर है।

राष्ट्रीय महासचिव प्रमोद यादव ने कहा कि यदि प्रदेश सरकार इस मुद्दे पर ध्यान नहीं देती है, तो भारतीय कृषक दल समूचे उत्तर प्रदेश में जनजागरण अभियान के बाद प्रदेश एवं राष्ट्रव्यापी सत्याग्रह /आंदोलन करने को बाध्य होगा।

इस अवसर पर वरिष्ठ स्तम्भकार बृजेश श्रीवास्तव, हरिशरण शुक्ल, राजेश पाण्डेय, कवि गगन तिवारी, राकेश सिंह, कवि राम किशोर मस्ताना, निशित शुक्ल, मुलायम यादव, राजेश यादव, आशीष सिंह सहित सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ता एवं गण्यमान लोग उपस्थित रहे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,046FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles